त्वचा की देखभाल (रसोई घर से) :

नारी सौन्दर्य का महत्त्व तो आदिकाल से ही रहा है। सच पूछिए तो स्त्रियाँ अपनी सुन्दरता को बरकरार रखने के लिए तरह-तरह के उबटनों का उपयोग करती आई हैं और नए-नए तरीके प्रयोग में लाती रहती हैं। कहावत मशहूर है कि ईश साधना के पश्चात् स्त्रियाँ सौन्दर्य साधना ही करती हैं।
आधुनिक युग में मँहगे सौन्दर्य प्रसाधनों का प्रचलन चल पड़ा है। इनके साथ-साथ अगर हमें कुछ प्रसाधन अपने रसोईघर में भी उपलब्ध हो सकते हैं जो हमारी त्वचा की रक्षा करते हैं।
त्वचा की रक्षा के उपाय आजमाने से पूर्व हम ये जान लें त्वचा कितने प्रकार की होती है। त्वचा तीन प्रकार की होती है सामान्य, सूखी और तैल। ऐसी भाग्यशाली महिलाएँ कम ही होती हैं जिनकी त्वचा काफ़ी उम्र तक सामान्य बनी रहती है। ऐसी त्वचा बहुत देर तक मुलायम बनी रहती है।
परन्तु तीस वर्ष के बाद प्रायः सब महिलाओं को अपनी त्वचा की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए।

✦अगर आपके चेहरे की त्वचा खुश्क है तो झुरियाँ भी जल्द ही पड़ने की आशंका है। इसलिए नियमित देखभाल भी ज्यादा जरूरी हो जाती है। खुश्क त्वचा पर साबुन का प्रयोग न करें तो अच्छा है। केवल गर्मी के मौसम में ही साबुन का प्रयोग करें।

✦चेहरे को चिकना और साफ़ रखने के लिए छना हुआ बेसन और मलाई का मिश्रण बनाकर सदा मुँह धोएँ। मुँह साफ़ करके कोई अच्छी-सी क्रीम चेहरे पर लगा लें। रात के समय भी चेहरे, गर्दन व हाथों को दूध या क्लीजिंग मिल्क से साफ़ करके धो लें। और फिर इन सभी भागों पर कोई अच्छी-सी नारिशिंग क्रीम लगा लें।

✦ सर्दी के दिनों में रूखी त्वचा पर मक्खन को दूध गर्म करके उसमें पिघला लें। करीब आधे घंटे बाद बेसन से रगड़कर साफ़ कर लें आपकी त्वचा में विशेष निखार आ जाएगा।

✦ हफ्ते में एक बार केले में एक चम्मच शहद मिलाकर 15 मिनट तक इसका लेप चेहरे, गर्दन और हाथों पर लगाकर हल्के गर्म पानी से धोकर पोंछ लें। 15 दिन में एक बार चेहरे पर भाप भी देनी चाहिए।

( और पढ़ेचेहरे की झुर्रियां हटाने के 20 कुदरती आसन उपाय )

✦अब तैलक्त त्वचा को लेते हैं। ज्यादा चिकनाई के कारण चेहरे पर धूल चिपक जाती है इसलिए मुँहासे निकलते हैं। ऐसी त्वचावाले लोगों को अपना चेहरा दिन में तीन-चार बार किसी मैडीकेटिड साबुन या कपड़छान बेसन से धोना चाहिए।

✦चेहरा धोकर खीरे का रस या कोई ‘एस्ट्रिनजंट लगा लें। खीरे के रस का नियमित प्रयोग त्वचा में चिकनाई कम करने के लिए फायदा करता है।

✦त्वचा की देखभाल के साथ-साथ पेट की देखभाल भी जरूरी है। खट्टी, मीठी चटपटी और अधिक तेल-मिर्च वाली चीजें खाने से मुँहासे और फूंसियाँ निकलती हैं। इनका खाना कम कर दें। विशेषकर ऐसी चीजें खाएँ जिनमें बी-1, बी-2, तथा सी अधिक मात्रा में हों।

✦यदि आँखों के नीचे त्वचा काली पड़ गई है, तो सुबह स्नान करने से पहले उन निशानों पर मलाई की मालिश करें। इससे आँखों के नीचे रक्त-संचार होगा और कालिमा दूर हो जाएगी। अगर कोई वाइटनिंग क्रीम की रात के समय सोने से पहले मालिश की जाए तो अधिक लाभ होगा।

✦आँखों की थकान को कम करने के लिए गुलाब जल में भिगो कर रुई के फोहे भी आराम पहुँचाते हैं। इसके अलावा खीरे को गोलाकार में काटकर आँखों पर रखें तो भी थकान दूर हो जाती है।

त्वचा की देखभाल के घरेलू टिप्स : Skin Care in Hindi Tips

1. चेहरे की त्वचा धूप के कारण गहरे रंग की हो जाती है, उसे ठीक करने के लिए चेहरे पर खीरा काटकर मलिए या खीरे का रस निकाल कर लगा लें। गर्मी के मेकअप करने से पहले चेहरे को खीरे के रस से धोएँ।

2. ग्लीसरीन, गुलाब जल और खीरे का रस बराबर मात्रा में मिलाकर त्वचा पर लगाने से उसका रंग निखर आता है।

3. रोज़ नहाने से पहले दूध में एक चम्मच बेसन और चुटकी भर हल्दी घोल कर लगाने से धूप में तपी त्वचा साफ़ हो जाती है।

4. दो चम्मच ग्लीसरीन, आधा चम्मच नींबू का रस और आधा चम्मच गुलाब जल-इन तीनों को मिलाकर रोज़ रात को चेहरे, गर्दन और हाथों पर लगाने से त्वचा की चमक बनी रहती है।

( और पढ़ेचेहरे की झुर्रियां हटाने के 20 कुदरती आसन उपाय )

5. कभी-कभी चेहरे पर ऑलिव ऑयल में एलोवेरा मिलाकर लगाने और हल्की-हल्की मालिश करने से चेहरे की झुर्रियाँ दूर होती हैं।

6. अगर चेहरे पर झाँइयाँ पड़ गई हों तो भाप लेते समय उबलते पानी में नींबू के रस की कुछ बूंदें डाल दें। चेहरा साफ़ दिखेगा।

7. आवश्यकता से अधिक चिकनाई को चेहरे पर से हटाने के लिए गाजर और पालक का रस बराबर मात्रा में लेकर रुई से चेहरे पर लगाइए और 10 मिनट बाद धो डालें। इसमें त्वचा के कई दाग भी मिट जाते हैं।

8. अगर आपको चेहरे की त्वचा ढीली पड़ चुकी है तो एक अंडे की सफेदी फेंटकर मेकअप करने से पहले चेहरे और गर्दन पर लगाइए और पन्द्रह मिनट बाद चेहरा ठंडे पानी से धो डालें।

9. चेहरे को दस रोज़ में एक बार भाप भी अवश्य देनी चाहिए। पाँच मिनट बाद चेहरे को धोकर चुकन्दर का रस लगा लें और फिर दस मिनट बाद मलाई मल लें और रगड़-रगड़कर सारा मैल निकाल दें। आप देखेंगी कि सिर्फ दो दिन में ही आपकी त्वचा में निखार आ गया है।

10. जायफल, लाल चन्दन और काली मिर्च-इन तीनों को बराबर पीस लें। उसका मुँह पर लेप कर लें। मुँहासे सूख जाते हैं। यह एक आयुर्वेदिक इलाज है।

11. लाल चन्दन और केसर का लेप भी कर सकती हैं।

12. कलौंजी को सिरके में पीसकर रात को मुँह पर लगा रहने दें। सुबह उठकर मुँह धो लें। इस उपाय से मुँहासे भी नष्ट हो जाएँगे और मस्से भी।

( और पढ़ेमुंहासे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय )

13. कच्ची वस्तुएँ जैसे खीरा, बन्दगोभी, टमाटर, गाजर, पालक, अमरूद आदि का सेवन रोज़ करें ताकि आपका पेट साफ़ रहे। साथ ही पानी भी उचित मात्रा में पीना जरूरी है। छह गिलास पानी एक दिन में अवश्य लेना चाहिए।

14. स्नान के लिए ज्यादातर ठंडे पानी का ही उपयोग करें। कभी-कभी सारे शरीर पर खट्टा दही मलने से विशेष फायदा होता है।

15. पैरों, जंघा-सन्धियों, जननेन्द्रियों तथा बगल को नहाने के बाद सुखा लेना चाहिए अन्यथा चमड़ी रोग होने का खतरा हो जाता है।