हमारा चेहरा हमारे स्वास्थ्य का दर्पण है। केवल चेहरा देखकर ही व्यक्ति के स्वास्थ्य के बारे में पता लगाया जा सकता है कि वह कितना स्वस्थ है। यह आवश्यक नहीं कि केवल गोरा रंग ही सुन्दरता का प्रतीक है बल्कि गेहुँआ या काला रंग भी आकर्षक हो सकता है यदि चेहरे में तेज हो। त्वचा साफ और स्वस्थ हो तो किसी को भी अपनी ओर आकर्षित किया जा सकता है। इसके लिए आवश्यकता है तो सिर्फ अपने स्वास्थ्य पर पूर्ण रूप से ध्यान देने की। केवल चेहरे को सजाने मात्र से ही कोई खूबसूरत नहीं हो जाता। बहुत खूबसूरत व्यक्ति भी यदि स्वस्थ नहीं है तो उसकी खूबसूरती का कोई महत्व नहीं है।
इसके लिए अपने भोजन पर विशेष ध्यान रखें। भोजन में फल, हरी सब्जी, फलों का रस व सूप आदि की मात्रा बढ़ाएँ। ऐसा भोजन न करें जिनसे कब्ज़ होता है जैसे आलू, चावल, चीनी, चिकनाई, खटाई, अचार, बेकरी प्रोडक्ट्स, फास्टफूड आदि। आइये जाने चेहरे पर दाने क्यों होते है?

चेहरे पर दाने होने के कारण : Face Par Dane hone ke karan

✦यदि आपको कब्ज़ हो तो सबसे पहले इसका निवारण करें। क्योंकि कब्ज़ होने पर इसका सीधा प्रभाव हमारे चेहरे पर पड़ता है। इससे चेहरे पर दाने निकल आते हैं जिन्हें मुँहासे (Pimples) कहा जाता है। कब्ज के कारण चेहरे पर काले निशान, आँखों के नीचे काले घेरे, झाइयाँ, झुर्रियाँ आदि ही देखने को मिलते हैं। इस लिए कब्ज़ को हटाने के लिए सबसे पहले सन्तुलित भोजन को अपनायें । दिन में 8 से 10 गिलास पानी पियें और रोज योग व्यायाम करें।

✦स्त्री रोग एवं यौन रोग होने की स्थिति में भी चेहरे का सौन्दर्य नष्ट हो जाता है। ऐसी स्थिति में चेहरे की सुन्दरता के लिए इन रोगों से मुक्त होना अत्यन्त आवश्यक है।

✦रसायनयुक्त कृत्रिम सौन्दर्य प्रसाधनों का अधिक प्रयोग करने से भी त्वचा खराब हो जाती है।

मौसम चाहे सर्दी का हो, गर्मी या बरसात का, हमारी त्वचा इससे बराबर प्रभावित होते रहते हैं। इसलिए जरूरी है कि मौसम के अनरूप हम अपनी त्वचा की देखभाल करें। क्योंकि जरा सी भी लापरवाही से हमारी त्वचा अपनी स्वाभाविक चमक खो सकते हैं। जिस प्रकार सेहत के लिए पौष्टिक खाना आवश्यक है उसी प्रकार त्वचा की सही देखभाल भी आवश्यक है। यदि आप अपनी दैनिक दिनचर्या में से थोड़ा-सा समय निकालकर अपनी त्वचा पर ध्यान दें तो आप वर्षों तक खुबसूरत और दमकते चेहरे के साथ रह सकते हैं।इसके लिए आप घरेलू औषधियों से अपने सौन्दर्य की देखभाल कर सकते हैं। आइये जाने chehre par dane hatane ke upay in hindi

चेहरे पर दाने के घरेलू उपाय और इलाज : Chehre me Dane ka ilaj in Hindi

1-चन्दन पाउडर, गुलाब जल, हल्दी, गेंदा, गुलाब पुष्प, तुलसी व नीम की पत्तियाँ मिलाकर लेप लगायें। ध्यान रखें कि मुल्तानी मिट्टी कम से कम 24 घंटे पहले भीगी हुई हो।

2-यदि आपकी त्वचा तैलीय है तो इस लेप में नींबू का रस भी डाल सकते हैं। लेप को गले पर लगाते हुए नीचे से ऊपर की ओर लगाते जायें। सूख जाने पर ठण्डे पानी से चेहरे को धो लें। चेहरे को रगड़े नहीं, ऐसे ही सूखने दें। इससे चेहरे को ठण्डक मिलती है और त्वचा कोमल हो जाती है। खीरे को गोल-गोल काटकर आँखों पर रखने से आँखों में ठण्डक मिलती है और त्वचा पर लगाने से त्वचा में निखार आता है।( और पढ़ेकील मुहासों के 19 रामबाण घरेलु उपचार )

3-चेहरे की फुंसी हटाने के उपाय- घृतकुमारी के गूदे को चेहरे पर मलने से भी त्वचा चमक उठती है। यह समस्त प्रकार के त्वचा रोगों के लिए लाभकारी है। इसे चेहरे पर लगाने के पश्चात् कुछ देर तक सूखने दें। फिर ठण्डे पानी से चेहरे को धो लें।

4-मुँह को शीतल जल से धोकर नीबू का रस या नारियल का तेल मल लिया जाए, तो मुँह की झाइयाँ चेहरे पर दाने और फुंसी ( मुँहासे) नष्ट हो जाते हैं।

5- थोड़ी-सी चिरौंजी कुछ दूध में भिगोकर खूब बारीक पीस लें और रात को सोते समय मुँह पर मलकर सो जाएँ। सुबह उठकर मुँह को साबुन से धो लें। यदि चाहें तो सुबह भी मल सकती हैं। मलने के घंटे-भर बाद मुँह धोइए।( और पढ़ेचेहरे की झुर्रियां हटाने के 20 कुदरती आसन उपाय)

6- प्रतिदिन स्नान से पूर्व नीबू के ताजा छिलकों को मुँह पर धीरे-धीरे मलने और कुछ समय बाद थोड़े गर्म पानी से मुँह धोने से चेहरे पर दाने और फुंसी दूर हो जाते हैं।

7- चेहरे पर दाने का घरेलू इलाज- एक चम्मच कच्चा दूध और एक चम्मच बेसन लेकर दोनों को खूब मसलें । फिर मुँह पर लगाकर पन्द्रह मिनट बाद रोएँदार तौलिए से रगड़कर पोंछ दें। अब क्रीम लगा लीजिए। चेहरे पर दाने और मुँहासे दूर हो जाएँगे।

8- चेहरे पर दाने (मुँहासे) दूर करने के लिए एक नुस्खा इस प्रकार भी है-बादाम तीन तोले, चिरौंजी दो तोले, सफेद चन्दन का चूरा एक तोला, गुलाब के सूखे फूल एक तोला, केसर तीन मासे, कस्तूरी, कपूर की चार टिकिया, सबको मिलाकर बारीक कर लीजिए। प्रातः चार माशे के लगभग गुलाब जल में मिलाकर मुँह पर उबटन की तरह मलिए।

9- सेमल के काँटों को गाय के दूध में पीसकर लेप करने से भी एक सप्ताह के भीतर ही मुँहासे दूर हो जाते हैं।( और पढ़ेचेहरे की झाइयाँ दूर करने के 39 सबसे बेहतरीन घरेलू उपचार)

10- यदि चेहरे पर दाने और फुंसी बहुत अधिक हों और खूब ही बड़े-बड़े हों, तो रात को सिरके में पिसी हुई कलौंजी मुँह पर मलकर सोइए और सुबह मुँह धो डालिए।

11-गोरोचन और काली मिर्ची को पानी में पीसकर मुँह पर कुछ दिन लेप करने से भी मुँहासे दूर हो जाते हैं। गेंदे के पत्तों का रस लगाने से भी मुँहासे दूर हो जाते

12- लाल चन्दन और केसर या लाल चन्दन, जायफल और काली मिर्ची को पानी में पीसकर नित्य मुँह पर लेप कीजिए। ( और पढ़े – गोरा होने के 16 सबसे कामयाब घरेलु नुस्खे)

13-नीम की छाल रात को पानी के साथ पत्थर पर रगड़कर चेहरे पर दाने(मुँहासों )पर गाढ़ा लेप कर लीजिए। सवेरा होते ही पानी से धो डालिए। हाथ से दबाकर कील निकालने की कोशिश मत कीजिए, इससे दाग पड़ जाते हैं।

14- जायफल को दूध के साथ पीस लें और फिर इसे प्रभावित स्थान पर लगाएँ। यह बिलकुल जादुई असर दिखाता है। इससे चेहरे पर दाने और फुंसी(कील-मुँहासे) बिना कोई निशान छोड़े गायब हो जाते हैं।

15-तीन बड़े चम्मच शहद और एक बड़ा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर लेप तैयार करें। सोने से पहले इस लेप को चेहरे पर दाने और फुंसी पर लगा लें और सुबह गुनगुने पानी से धो लें। ऐसा दो सप्ताह तक करने से मुँहासे साफ हो जाएँगे।

16- एक छोटा चम्मच नीबू का रस और एक छोटी चम्मच दालचीनी पाउडर के मिश्रण को प्रभावित स्थान पर लगाएँ।

17-संतरे के छिलकों को पानी के साथ पीसकर लेप तैयार कर लें। इसे मुँहासों तथा इनके आस-पास के स्थान पर लगाएँ। थोड़े ही समय में मुँहासे सूख जाएँगे।

18-सहिजन की फलियों तथा पत्तियों को पीसकर इन्हें ताजे नीबू के रस के साथ मिला लें और चेहरे पर दाने और फुंसी पर लगाएँ। यह गहरे दाग-धब्बों पर भी असर दिखाता

19- मेथी की ताजी पत्तियों के लेप को हर रात 10-15 मिनट के लिए चेहरे पर लगाएँ और फिर गुनगुने पानी से धो लें। इससे चेहरे पर दाने तथा झुर्रियाँ नहीं होतीं।

20- उभरे हुए मुँहासों पर कच्चे पपीते का गूदा (छिलके तथा बीज रहित) | लगाएँ ठंडक के साथ-साथ सुंदरता भी बढ़ेगी।

21-यदि चेहरे पर चेहरे पर दाने और फुंसी या त्वचा फटी हुई है तो एक गिलास दूध में नीबू का रस । मिलाकर इसे क्लींजर की तरह इस्तेमाल करें।

22-चंदन की लकड़ी को गुलाब जल में घिसकर लेप तैयार कर लें । प्रभावित स्थान पर लगाएँ और 20-30 मिनट बाद हलके गुनगुने पानी से धो लें।

23- एक चम्मच जायफल तथा चौथाई चम्मच काली मिर्च को दूध में मिलाकर लेप तैयार कर लें और प्रभावित स्थानों पर लगाएँ। इससे मुँहासे सख्त नहीं हो पाएँगे और दब जाएँगे। इससे कुछ खुजली अथवा जलन हो सकती है, जो कि स्वाभाविक है। लेकिन यदि यह खुजली अथवा जलन अधिक समय तक बनी रहे तो यह उपयोग बंद कर दें।

खान पान और सावधानियां :

-यह सुनिश्चित कर लें कि आहार में वसा की मात्रा अत्यधिक न हो। इसके लिए अपने भोजन में मूंगफली के तेल की जगह सरसों का तेल इस्तेमाल करें।

– इस बात की पूरी सावधानी बरतनी चाहिए कि मुँहासों को न तो दबाएँ, न ही उनके साथ छेड़छाड़ करें । नाना प्रकार के लोशन, क्रीम लगाने से स्थिति और भी बिगड़ जाती है।

– बताए गए उपर्युक्त घरेलू इलाज के अलावा चेहरे को नीबू पानी से धोया करें, सप्ताह में एक बार चेहरे को बफारा दें तो रोमकूप खुले रहते हैं। अनावश्यक छेड़छाड़ न करने से कम-से-कम चेहरा खराब होने से बच सकता है। इससे मुँहासे काले नहीं पड़ते और फैलते भी नहीं।

चेहरे पर दाने हटाने की आयुर्वेदिक दवा : Face par Dane ki Dawa

अच्युताय हरिओम फार्मा द्वारा निर्मित “एलोवेरा जेल” चेहरे के दाग धब्बे, फुंसी ,झाइयां आँखों के नीचे काले घेरे, झुर्रियाँ आदि मिटाने के लिए सबसे अच्छा उपाय है ।

प्राप्ति-स्थान : सभी संत श्री आशारामजी आश्रमों व श्री योग वेदांत सेवा समितियों के सेवाकेंद्र से इसे प्राप्त किया जा सकता है ।