अन्तस्वर मुद्रा कैसे लगायें :

★ सबसे पहले आप किसी भी आसन में जमीन पर बैठ जाएं।
★ फिर अपनी दोनों आंखों को बंद करके अपने दोनों हाथों से अपने दोनों कानों को जोर से बंद कर लीजिए जिससे कि बाहर की कोई भी आवाज आपको सुनाई न दें
★ लेकिन कानों में अजीब सी सांय-सांय की आवाज गूंजने लगे।
★ इस आवाज पर मन को एकाग्र करे |
★ इसे ही अन्तस्वर मुद्रा कहते हैं।

इसे भी पढ़े : अग्निशक्ति मुद्रा लो ब्लडप्रेशर में होने वाली कमजोरी से राहत देती है यह मुद्रा |

समय :

अन्तस्वर मुद्रा को रोजाना सुबह 15 मिनट और शाम को 15 मिनट तक करना चाहिए। धीरे-धीरे इस मुद्रा को करने का समय बढ़ाते जाएं।

अन्तस्वर मुद्रा से लाभ : Antaswar mudra benefits in hindi

★ इस मुद्रा को करने वाला साधक धीरे-धीरे शरीर की बारीक से बारीक आवाज और तरंगों को पहचानने लगता है।
★ धीरे-धीरे साधक के शरीर में ऊर्जा शक्ति बढ़ने लगती है।

keywords – अन्तस्वर मुद्रा , Antaswar mudra , antaswar mudra kaise kare ,antaswar mudra in hindi ,antaswar mudra benefits in hindi , योग मुद्रा pdf ,योग मुद्रा क्या है , योग मुद्रा के प्रकार ,योग मुद्राएँ ,योग मुद्रासन ,ध्यान मुद्रा ,हस्त मुद्रा विज्ञान